गेहूँ एवं जौ स्वर्णिमा को गणेष षंकर विद्यार्थी पुरस्कार से नवाजा गया

भा.कृ.अनु.प.-भारतीय गेहूँ एवं जौ अनुसंधान संस्थान, करनाल, हरियाणा द्वारा विगत 10 वर्शांे से हिन्दी वार्शिक पत्रिका गेहूँ एवं जौ स्वर्णिमा का प्रकाषन किया जा रहा है। इस पत्रिका के नौवें अंक को भारतीय कृशि अनुसंधान परिशद, नई दिल्ली द्वारा हिन्दी पत्रिकाओं को दिए जाने वाले सर्वोच्च सम्मान गणेष षंकर विद्यार्थी पुरस्कार से नवाजा गया है। इस पत्रिका को ‘क’ क्षेत्र में स्थित परिशद के विभिन्न संस्थानों द्वारा प्रकाषित हिन्दी पत्रिकाओं में द्वितीय स्थान प्राप्त हुआ है। यह संस्थान के लिए गौरव की बात है तथा राजभाशा के उन्नयन में संस्थान के द्वारा किए जा रहे सार्थक प्रयासों का प्रमाण-पत्र है। यह पत्रिका विज्ञान के साधकों और किसानों के लिए प्रकाष पुंज का कार्य कर रही है। परिशद के स्थापना दिवस (16 जुलाई, 2018) के अवसर पर यह सम्मान दिया जाएगा जिसे संस्थान के निदेषक डाॅ. ज्ञानेन्द्र प्रताप सिंह तथा राजभाशा अधिकारी डाॅ. अनुज कुमार ग्रहण करेंगे।

अधिक जानकारी के लिए;क्लिक करे

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *